पूर्व अमेरिकी वायु सेना अधिकारी का एलियंस पर चौकाने वाला खुलासा





दोस्तों दुनिया में अजीबो गरीब घटनाए , किस्से समय समय पर उद्धृत होते रहते है उन्हें पूरी तरह झूठलाया भी नहीं जा सकता और उसपे यकीन करना भी काफी मुश्किल होता है ! आप सभी  दूसरे ग्रहों के जीव जिन्हे एलियन्स कहा जाता है से भली भांति परिचित ! समय समय पर ऐसे खबरे आती रहती है जिसमे दिखाया जाता है की किसी जगह उड़न तश्तरी देखि गयी एलियन्स को देखा गया ! यहाँ तक की एरिया 51 जो की अमेरिका में एक निषेध क्षेत्र है जहा कहा जाता है की जिन्दा पकड़े गए  एलियन्स पर परीक्षण किया जा रहा है ! जिसके विषय में हमेशा कौतहूल बना रहता है ! ऐसे में आज हम एक ऐसे खुलासे का जिक्र कर रहे है जिसे अमेरिका की पूर्व वायु सेना की अधिकारी ने 2 वर्ष पूर्व किया था ! आप में से कुछ लोग शायद “न्यारा तेरेला इसले “ नामक इस महिला को जानते हो और इनके  द्वारा किये गए खुलासे से भी अवगत हो ! आज इस लेख के माध्यम से हम यह समझने की कोशिश करेंगे की इनके द्वारा किये गए इस खुलासे में कितना दम है और क्या वास्तव में इस घटना को सिरे से नकारना गलत है ! आइये इसे विस्तृत रूप में समझते है !

वर्ष 2015  के अक्टूबर माह में आये इस चौकाने वाले बयान से न्यारा तेरेला इसले को रातोरात सुर्खियों में आ गयी  !दरहसल इसले अमेरिका के वायु सेना में राडार ट्रैकिंग अफसर के पद पर कार्यरत थी ! इसले का कहना था की उन्हें काफी समय से ऐसा लग रहा था मानो उनको अपने जीवन के पिछले बहुत से वर्ष याद ही नहीं है ! उन्होंने दिमाग के इसी खालीपन का इलाज़ करवाने के लिए एक सम्मोहन विद्या में माहिर व्यक्ति से मदद ली ! पूरी तरह से सम्मोहित हो जाने के बाद इसले ने अपने जीवन के पिछले वर्षो के कई इस तरह खुलासे किये की हर कोई दंग रह गया ! इसले ने कहा की जब वे 25  वर्ष की उम्र में अमेरिका के वायु सेना के  निवादा टेस्ट रेंज पर कार्यरत थी तो कुछ अधिकारियों द्वारा उनके गर्दन पर एक रहस्य्मयी दवा का इंजेक्शन लगाया गया और अधिकारियों द्वारा इसले को कुछ विचित्र प्राणियों को सौप दिया गया ! इसले के अनुसार ये जीव दिखने में किसी इंसान और सांप का मिलाजुला रूप थे ! जिनकी पीली आंखें व लम्बी पूंछ भी थी ! इसले ने बताया की ये जीव उन्हें एक यान पर बिठा कर चाँद पर ले गए और इनके साथ इन जीवो द्वारा बलात्कार किया गया !


इसले ने ये सभी बातें अपने द्वारा दिए गए एक इंटरव्यू में बताई ! यह इंटरव्यू इसले ने एक्वेरियन रेडियो  के एक प्रोग्राम में दिया था ! उनका कहना है की 25 वर्ष की उम्र में उन्हें कई महीनो तक करीब 8  से 10 बार चाँद पर लाया ले जाया गया ! इस दौरान शारीरिक शोषण के साथ उन को कई तरह के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर काम करवाया गया ! इसले कहती है की चाँद का यह काला हिस्सा था जिसे हम धरती से नहीं देख पाते ! उन्होंनेबताया की ऐसा लग रहा था मानो वहां किसी तरह के सैन्य अड्डे का निर्माण किया जा रहा था और वहां मजबूरी मैं कई इंसानो के साथ अन्य छोटे ग्रहो के एलियन्स को भी इन जीवो के लिए काम करना पड़ रहा था ! इसले के अनुसार उन्हें रात में सोने की अनुमति नहीं थी ! हर रात ये जीव उनके साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाते थे ! वर्ष 1980  तक आते आते ये सब घटनाए कम होती गयी और इसले की याददाश्त मिटा दी गयी और सम्मोहन विद्या द्वारा इन यादो को फिर से जीवित किया गया ! यह दावा पूर्व  अमेरिकी वायु सेना की अधिकारी  न्यारा तेरेला इसले ने किया है !

इसले के इस तरह के खुलासो पर कोई अपनी प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है परन्तु यह बात भी सही है की एलियन्स द्वारा समय समय पर इंसानो के अपहरण की घटनाओ का जिक्र होता रहा है ! वही अमेरिका जैसा शक्तिशाली देश लगातार कई वर्षो से प्रतिबंधित क्षेत्र एरिया 51  में एलियंस पर शोध करता आ रहा है ! वहां पर कार्यरत कई सेवानिवृत अधिकारियों ने इस बात का खुलासा किया है वहां एलियंस पर परीक्षण किया जा रहा है और वहां पर कार्यरत लोगो को अधिक जानकारी नहीं दी जाती है उन्हें आपस में पता नहीं होता की उनसे क्या काम करवाया जा रहा है ! और न ही कभी आधिकारिक तौर पर अमेरिका ने इस बाबत कोई बयान दिया है ! हालाँकि इसले के दावों पर यकीं करना मुश्किल है परन्तु अमेरिका की सरकार द्वारा इसले की बातों को नज़रअंदाज़ करना और कोई जांच नहीं करवाना भी संदेहास्पद है !

दोस्तों आपकी इस बात पर क्या राय है क्या ये दावे सच हो सकते है कमेंट द्वारा अवश्य बताए ! साथ ही इसे शेयर कर अधिक लोगो तक पहुंचने में मदद करे !





Comments

  1. Nyara Terela Isle ,wow I am stunned reading this article and a bit scared too.

    ReplyDelete
  2. thanks for sharing this .. well written !

    ReplyDelete
  3. nice info ..

    ReplyDelete
  4. hahaha..yes

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बम्बई अंडरवर्ल्ड की अनसुनी कहानी की वेब सीरिज़

एक राष्ट्र दो ध्वज : जम्मू कश्मीर की राह पर कर्नाटक राज्य

जीवन के प्रति नज़रिया