वॉनाक्राय रैनसमवेयर साइबर अटैक भारत में (लेटेस्ट)

Wana_Decrypt0r_screenshot.png



दोस्तों , कल दिनांक  18 मई 2017 को भारतीय स्टार्टअप कंपनी जोमेटो ने बताया की उसके 17 मिलियन (1 करोड़ 70 लाख ) लोगो का डाटा किसी हैकर द्वारा हैक कर लिया गया है ! हैकर द्वारा जोमेटो के यूज़र्स का ईमेल आई डी एवं पासवर्ड हैक कर लिया गया है और वो उसे डार्क वेब पर प्रसारित करेगा ! हालाँकि जोमेटो ने बताया है की पासवर्ड को टेक्स्ट फॉर्म में कन्वर्ट नहीं किया जा सकता परन्तु कंपनी की तरफ से अपने यूज़र्स को पासवर्ड बदलने की हिदायत दी गयी है ! आपको ये बता दू की जोमेटो एक ऑनलाइन रेस्टॉरेंट एवं फ़ूड सर्चिंग एवं सप्लाई करने वाली कंपनी है ! कई देशो में संचालित जोमेटो की साइट  पर हर महीने करीब 120 मिलियन लोग सर्च करते है ! हैकरीड.कॉम के हवाला से हैकर ऍनक्ले ने इस डाटा को हैक किया है ! हैकर ने कंपनी के डाटा को डार्क वेब पर बेचने की धकमी दी है और कहा है की अगर वो इस डाटा को वापस सुरक्षित रखना चाहते है तो उसे बिटकॉइन के माध्यम से 1000 डॉलर दे ! यह इसी महीने मैं भारत पर हुआ दूसरा साइबर अटैक है ! यहा में आपको ये बता दू की वानाक्राय  रैनसमवेयर साइबर  हमले से मई 2017 में करीब 150 देशो का  आईटी सेक्टर प्रभावित हुआ है एवं  करीब 2,30,000 कंप्यूटर प्रभावित हुए है ! जानकार इस हमले को भी वानाक्राय  रैनसमवेयर  साइबर हमले से प्रेरित बता रहे है !


वानाक्राय  रैनसमवेयर एक  रैनसमवेयर  मैलवेयर टूल है , रैनसमवेयर का मतलब होता है फिरौती ! इस टूल की मदद से मई महीने मे वैश्विक स्तर पर साइबर हमला हुआ है ! इस साइबर हमले के बाद संक्रमित कम्प्यूटरो ने काम करना बंद कर दिया है तथा फिर से खोलने पर ऊपर दिखाए गए स्क्रीन शॉट को साँझा किया है जिसमे उसने 300 से 600 डॉलर की फिरौती बिटकॉइन के माध्यम से मांगी है एवं कंप्यूटर के डाटा को हैक करने की बात कही है !  माना जा रहा है की हैकर्स ने अमेरिका की सुरक्षा एजेंसी की तकनीक की तर्ज़ पर इतना बड़ा साइबर हमला किया है ! अमेरिका की सुरक्षा एजेंसी की तकनीक इंटरनेट पर लीक हो गयी थी ! हैकर्स ने रूस उक्रैन भारत ताइवान समेत ब्रिटैन की नेशनल एजेंसी एवं स्पेन की फ़ेडेक्स कंपनी और कई बड़ी कंपनियों को निशाना बनाया है !


प्रभाव :


  • ब्रिटैन की नेशनल हेल्थ एजेंसी बुरी तरह प्रभावित हुई है कई मरीज़ो के रिकॉर्ड पहुंच से बाहर हो गए है ! कई कम्प्यूटरो ने काम करना बंद कर दिया है ! इस डाटा को पुनः हासिल करने के  लिए  230 पौंड करीब 19000 रुपयों की फिरौती की मांग की गयी है !  
  • भारत में आंध्राप्रदेश के पुलिस थानों के आंकड़े हैक किए गए, भारत में आंध्र प्रदेश में पुलिस विभाग के कंप्यूटरों के एक हिस्से वैश्विक साइबर हमले का निशाना बने। चित्तूर, कृष्णा, गुंटूर, विशाखापत्तनम और श्रीकुलम जिले के 18 पुलिस इकाइयों के कंप्यूटर साइबर हमले से प्रभावित हुए, हालांकि अधिकारियों ने कहा कि रोजमर्रा के कामों में कोई बाधा नहीं हुई है।
  • जापान में भी करीब 2000 कम्प्यूटर्स प्रभावित हुए है ! हिताची एवं निसान कॉर्पभी प्रभावित हुई है !
  • जर्मनी की रेलवे प्रभावित हुई है !
  • उक्रैन ताइवान समेत दुनिया के 90 और देश इस हमले से प्रभावित हुए है !


वॉनाक्राय रैनसमवेयर कंप्यूटर पर फ़ाइलों को लॉक करता है और उनको इस तरह से एन्क्रिप्ट करता है कि यूजर द्वारा उन तक नहीं पहुंचा जा सकता। यह माइक्रोसॉफ्ट के व्यापक रूप से इस्तेमाल किये जाने वाले विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम को लक्ष्य बनाता है। जब कोई सिस्टम संक्रमित होता है, तो पॉप-अप विंडो  300  डॉलर की फिरौती राशि का भुगतान करने के निर्देशों के साथ दिखाई देती है। पॉप-अप विंडो में दो उलटी गिनती वाली घड़ियाँ दिखाई देती हैं; एक व्यक्ति को तीन दिन की समयसीमा दिखती हैं जिसके बाद राशि दुगुनी हो कर 600 डॉलर  हो जाती है; दूसरा एक समय सीमा दिखाती है जिसके बाद यूजर हमेशा के लिए अपना डेटा खो देगा। भुगतान को केवल बिटकॉइन में ही स्वीकार किया जाता है।


यह एक वैश्विक साइबर हमला है ! आज दुनिया भर के कई देश इससे जूझ रहे है ! हालाँकि ब्रिटेन के सुरक्षा शोधकर्ता 'मैलवेयर टेक' इस पर काम कर रहे है ;  मैलवेयर टेक ने ही रैनसमवेयर हमले को सीमित करने में मदद की थी।  भविष्य ऐसे हमलो से सावधान रहना होगा खासकर भारत को क्यूंकि साइबर सिक्योरिटी के मामले में भारत अभी काफी पीछे है !


दोस्तों इस जानकारी को अधिक से अधिक लोगो में पहुंचाने में मदद करे तथा इस लेख के बारे मैं अपने विचार कमेंट के माध्यम से अवश्य दे !


Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

बम्बई अंडरवर्ल्ड की अनसुनी कहानी की वेब सीरिज़

एक राष्ट्र दो ध्वज : जम्मू कश्मीर की राह पर कर्नाटक राज्य

जीवन के प्रति नज़रिया