आभासी वास्तविकता (वर्चुअल रियलिटी ) भविष्य का आधार




प्रस्तावना:

वर्चुअल रियलिटी का सन्दर्भ कंप्यूटर तकनीकी से है जो की वर्चुअल  रियलिटी उपकरणों के माध्यम से वास्तविक दृश्यों, ध्वनियों  एवं अन्य सनसनीखेज जो की वास्तविक पर्यावरण का प्रतिबिम्ब है अथवा काल्पनिक दृश्यों  को प्रकट करता है  !

एक व्यक्ति वर्चुअल रियलिटी के उपकरणों के माध्यम से अपने आस पास की कृत्रिम  दुनिया को देख सकता है ! वर्चुअल रियलिटी  उच्च गुणवत्ता एवं बहुविशेषताओं से सज्जित उपकरणों से दर्शाया जाती है ! वर्चुअल रियलिटी उपकरण सर पे लगे काले चश्मे के समान होते है , जहां आँखों के सामने स्क्रीन के माध्यम से हम देख सकते है ! प्रोग्राम में ध्वनि सम्मिलित होती है जिसे स्पीकर्स और हेडफोन द्वारा सुना जा सकता है !


कार्यप्रणाली :-

वर्चुअल रियलिटी का उपयोग 3 डी टूर 3 डी मैप (360 डिग्री)  और 3 डी गेम्स के  लिए किये जाता है ! वर्चुअल रियलिटी उपकरण पहन कर आप काल्पनिक दुनिया का हिस्सा बन सकते है ! वर्चुअल रियलिटी एक सस्ती प्रणाली है ! ये एक लेंस मैकेनिज्म है ,  सामान्यतया इस उपकरण में 2 लेंस होते है ! जो आपकी स्क्रीन को आपकी आँखों के हिसाब से 2 भागो में बाट देता है ! मiन लीजिये आप इस उपकरण  को पहन कर यू ट्यूब 360 डिग्री वीडियो देख रहे है जिसमे आप एक हेलीकाप्टर में है तो ये उपकरण आपको ऐसा एहसास दिलाता है की आप स्वयं उस हेलीकाप्टर में है  और आपके दाए बाए घूमने पर आप डैशबोर्ड देख सकते है साथ ही आप निचे देख सकते है ! इसके लिए आपके फ़ोन में गायरोस्कोप होना चाइये जो की हार्डवेयर होता है जब आप अपनी दिशा परिवर्तित करते है तो गायरोस्कोप  आपके फ़ोन के सॉफ्टवेयर को आपकी पोजीशन एवं एंगल बताता है ताकि आप उस दिशा में मौजूद चीज़ो को देख सके ! गायरोस्कोप के बिना आप बस एक बड़ी स्क्रीन ही देख पाएंगे 3 डी  टूर का मज़ा नहीं ले पाएंगे ! वर्चुअल रियलिटी एक सस्ती प्रणाली है ! बाजार में आसानी से कम मूल्य में उपलब्ध है !  उदाहरण के लिए गूगल कार्डबोर्ड  , सैमसंग गैलेक्सी  का   उपकरण , एचटीसी विवे , सोनी का मॉर्फोस प्रोजेक्ट बाजार में सस्ती दरो पर उपलब्ध है !

विभिन्न क्षेत्रों में सम्भावनाये एवं  उपयोग  :-

वर्चुअल रियलिटी का उपयोग 3 डी गेम्स एवम 3 डी टूर के साथ साथ कई क्षेत्रों में किया जाता है एवं भविष्य में यह तकनीकी  दुनिया का अहम् शस्त्र बन सकता है ! नए नए प्रयोगो एवं  उन्नैयनो के माद्यम से तकनीकी की दुनिया में यह क्रांति ला सकता है ! आइये इसकी बृहद उपयोगिता को समझते है !

१. वीडियो गेम्स :-

वर्चुअल रियलिटी का उपयोग विभिन्न  गेमो में किया जाता है ! इस उपकरण के माध्यम से आप ऐसा अनुभव करेंगे मानो आप स्वयं किसी काल्पनिक व्यक्ति के साथ इसे खेल रहे हो ; यह उपकरण खेलो को   काफी आकर्षित एवं जीवंत बना देता है !

२. सिनेमा एवम मनोरंजन :-

इस उपकरण के माध्यम से आप अपने को किसी आभासी दुनिया में स्वयं को मह्सूस करेंगे एवं  अपनी दिशा को परिवर्तित करते हुए ! उस स्थान के प्रत्येक वस्तुओ को अपने समक्ष पाएंगे ! मूलतया ये आपको 360 डिग्री में हर चीज़ को आपके समक्ष रख के बहुत  ही मनमोहक नज़ारे का अनुभव करवाता है ! 3 डी टूर में आप बहुत  ही आनंदित होंगे ! इसी तरह आप सिनेमा में  भी 360 डिग्री व्यू  का लुफ्त उठा पाएंगे !

३. स्वास्थय एवं चिकित्सा के क्षेत्र में :-

एक रिपोर्ट के अनुसार वर्चुअल रियलिटी का भविष्य में चिकित्सा के क्षेत्र में बृहद उपयोग की प्रबल सम्भावनाये है ! वर्चुअल रियलिटी एक्सपोज़र थ्योरी  मानव शरीर में एंग्जायटी डिसॉर्डर के अध्ययन में एवं पैन मैनेजमेंट बहुत ही लाभकारक है ! इसकी अन्य सम्भावनाओ को तलाशा जा रहा है !

४. शिक्षा एवं तकनीकी  के क्षेत्र में :-

नासा अंतरिक्ष के क्षेत्र में अध्ययन के लिए पिछले करीब 20 वर्षो से वर्चुअल रियलिटी  तकनीकी का उपयोग कर रहा है ! इसके अलावा  मिलिट्री  शिक्षा एवम सेना में इस तकनीक के  माध्यम से  युध्य की परिस्थियो को प्रदर्शित कर उसकी निराकरण की सम्भावनाओ को तलाशा जा सकता है !

शिक्षा के  क्षेत्र में यह एक क्रांतिकारी  परिवर्तन ला सकता है ! इस तकनीक का उपयोग बड़े स्तर पर कर सकते है एवं यह शिक्षा की पारम्परिक व्यवस्था में परिवर्तन ला सकता है

इसके अलावा ऑक्यूपेशन हेल्थ सेफ्टी के क्षेत्र में विभिन्न  बीमारियों के अध्ययन में , डिजाइनिंग के  क्षेत्र में , आर्किटेक के क्षेत्र में , विभिन्न कार्यकमों में  इस तकनीक का उपयोग कर दर्शको को मनमोहक प्रस्तुतियों का आभास करवाने अथवा फाइन आर्ट के क्षेत्र में भी इसका उपयोग किया जा सकता है !

आभासी वास्तविकता (वर्चुअल रियलिटी ) एवं  संवर्धित (ऑगमेंटेड रियलिटी )  में  अंतर

वर्चुअल रियलिटी एक बहुत  सस्ती प्रणाली है , जबकि ऑगमेंटेड रियलिटी (संवर्धित वास्तविकता ) एक महंगी प्रणाली है ! ऑगमेंटेड रियलिटी वर्चुअल रियलिटी का उन्नत वर्शन है ! ऑगमेंटेड रियलिटी ऐसी तकनीक है जो  मौजूदा माहौल में ही आपको कुछ नए अनुभव दिला सकता है जैसे मान लो आपको अपने घर में फर्नीचर लाना है तो आप इस तकनीक के माध्यम से उसकी वस्तुस्थति देख सकते है ; जैसे की आपको कहा सेट करना है कितना स्पेस लेगा कैसा दिखेगा वगैरह ! सोनी एक्सपेरिअा के फोनो में ऑगमेंटेड कैमरा उपलब्ध होता है ! इसके अलावा भी माइक्रोसॉफ्ट का होलोलेंस , गूगल ग्लासेस बाजार में उपलब्ध है !






Comments

  1. i am hearing lot about virtual reality:kind of reminds me of hollywood movie surrogates.

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

बम्बई अंडरवर्ल्ड की अनसुनी कहानी की वेब सीरिज़

एक राष्ट्र दो ध्वज : जम्मू कश्मीर की राह पर कर्नाटक राज्य

जीवन के प्रति नज़रिया